कारागार में हाहाकार, पानी दे यूपी सरकार

0
309

मण्डल कारागार बांदा पर सूखे का डंक उस समय छिद गया जब कारागार में लगे दो बोरवेल में एक बंद हो गया, दूसरा सिसकियां लेने लगा। कारागार परिसर में दो ट्यूवबेल भी हैं, मगर दोनों ही कुंए साथ छोड़ गये। ऐसे में जेल अधीक्षक ने स्पष्ट कहा कि बंदियों के लिए मुख्य द्वार खोल देना बेबसी है, ताकि कैदी बाहर जाकर पानी ला सकें। हालांकि जेल अधीक्षक ने यह भी कहा कि बेतवा नदी से प्रशासन मामूली पानी दे पा रहा है, जिससे सिर्फ दस मिनट ट्यूववेल चल पाते हैं। ऐसी स्थिति में आईजी कारागार और जिलाधिकारी को भी बताया गया, फिर भी इंतजार कर रहा हूं, अभी तक एक टैंकर का भी इंतजाम नहीं हुआ।