रजनी यादव को इग्नू द्वारा डाॅक्टर की ख्याति प्राप्त

0
708

निशांत सिंह।
नई दिल्ली 22 अप्रैल। इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, नई दिल्ली के 35वें दीक्षांत समारोह के उपलक्क्ष में मंगलवार को आयोजित कार्यक्रम में एटा (उ0प्र0) निवासी रजनी यादव को मुख्य अतिथि एवं शिक्षा एवं कौशल और उद्यमशीलता मंत्री श्री धर्मेन्द्र प्रधान जी और विशिष्ट अतिथि एवं कुलपति प्रो0 नागेश्वर राव द्वारा जनसंचार एवं पत्रकारिता में डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी की उपाधि प्रदान की गयी। डॉ0 रजनी यादव का शोध विषय महिलाओं से संबंधित समाचारों की भाषा और प्रस्तुतिकरण रहा था।

डॉ0 रजनी यादव से विशेष बातचीत
राष्ट्रीय समस्या के संवाददाता से विशेष बातचीत के दौरान डॉ0 रजनी यादव ने बताया कि उनका मूल निवास उत्तर प्रदेश के एटा जिले का है। उनका जन्म नवम्बर 1992 में हुआ और उन्होने प्रारंभिक शिक्षा दिल्ली से ग्रहण की, तथा आगरा के डॉ0 भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री हासिल की। डॉ0 रजनी यादव ने जागरण काॅलेज, पंजाब टेक्निकल यूनिवर्सिटी से जनसंचार एवं पत्रकारिता में एमएससी परास्नातक की है, इसके साथ ही वे जनसंचार एवं पत्रकारिता में जागरण इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एण्ड मास कम्यूनिकेशन से दो वर्षीय पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा की हुई हैं।

इसके साथ ही डॉ0 रजनी यादव ने बताया कि एमएससी की शैक्षिकता के दौरान मुझे महसूस हुआ कि जनसंचार एवं पत्रकारिता एक ऐसी चीज है जो बहुत ही रोचक और आकर्षक है, वो इसके बारे में अधिक गहरायी से जानने को इच्छुक थी, इसलिए पत्रकारिता एवं जनसंचार में पी0एच0डी0 करने का हमेशा जहन में रहा। उन्हें 2017 में सावित्रीबाई फुले डाॅक्टरल फेलोशिप धारण करने का अवसर हुआ, जो कि महिला पी0एच0डी0 शोधार्थियों को प्रदान की जाती है, इसके साथ ही उन्हें 2017 में पूर्णकालिक नियमित रूप में इग्नू, नई दिल्ली से जनसंचार एवं पत्रकारिता में पी0एच0डी0 करने का अवसर प्राप्त हुआ।

डॉ0 रजनी यादव की निरंतर सक्रियता
करीब पांच वर्ष की प्रिंट और इलेक्ट्राॅनिक मीडिया की अनुभवी डॉ0 रजनी यादव ने बताया कि कि वह शोध एवं लेखन क्रिया में निरंतर सक्रियता दर्शातीं रही हैं, उनके चार शोध पत्र यूजीसी केयर लिस्ट एवं पीयर रिव्यू में प्रकाशित हो चुके हैं, इसके साथ ही वह पत्रकारिता एवं जनसंचार विषय में लगभग डेढ़ वर्ष से अध्यापन कार्य में संलग्न हैं। नोएडा के एमेटी यूनिवर्सिटी में अपनी सेवा प्रदान करने के पश्चात वर्तमान में वह ग्रेटर नोएडा के नोएडा इण्टरनेशनल यूनिवर्सिटी में बतौर सहायक आचार्य कार्यरत हैं।

मां के चरणों में समर्पित की उपाधि
डॉ0 रजनी यादव कहतीं हैं कि ‘‘उच्च शिक्षा की यह सर्वोच्च डिग्री मैं अपनी माँ श्रीमती बिरमा यादव के चरणों में समर्पित करतीं हूँ, जन्म से लेकर उच्च शिक्षा हासिल करने के दौरान मैं माँ के आशीर्वाद, स्नेह, सहयोग और मार्गदर्शन के लिये जीवनपार्यंत उनकी ऋणी रहूँगी”। डॉ0 रजनी यादव बतातीं हैं कि मुझे शोध निर्देशक के रूप में ऐसे व्यक्तित्व प्राप्त हुए, जिन्होंने शोध कार्य को दिशा प्रदान करने के साथ ही एक अभिभावक के रूप में सदैव अपनत्व और सहयोग दिया। औपचारिक रूप से मैं अपने शोध निर्देशक डॉ0 रमेश यादव जी को अंतःकरण से कृतज्ञता ज्ञापित करती हूँ एवं आशा करती हूँ कि उनका आशीर्वाद और स्नेह सदैव इसी तरह बना रहेगा।