‘बागी-2’ में है टाइगर श्रॉफ का जबरदस्त एक्शन, कहानी में दम नहीं

0
199

इस सप्ताह प्रदर्शित फिल्म ‘बागी-2’ पूरी तरह से टाइगर श्रॉफ के कंधों पर टिकी हुई है। फिल्म की कहानी पर निर्देशक अहमद खान ने थोड़ी और मेहनत की होती तो यह अच्छी फिल्म बन सकती थी। अभी इंटरवेल से पहले का भाग ठीक है लेकिन उसके बाद की कहानी पटरी से उतरी हुई है। फिल्म में हालांकि आपको टाइगर के हैरतअंगेज एक्शन के अलावा मनाली, थाईलैंड, गोवा और लद्दाख की खूबसूरत लोकेशनें भी देखने को मिलेंगी। फिल्म को लेकर दर्शकों में कितना जबरदस्त क्रेज था इसका उदाहरण फिल्म को मिली बंपर ओपनिंग है।

फिल्म की कहानी रॉनी (टाइगर श्रॉफ) और नेहा (दिशा पाटनी) के इर्दगिर्द घूमती है। दोनों साथ पढ़ते हैं और एक दूसरे से प्यार करते हैं। दोनों शादी करना चाहते हैं लेकिन नेहा के पिता को रॉनी पसंद नहीं है। दोनों शादी करने के लिए घर से भाग जाते हैं लेकिन कुछ ऐसी घटनाएं होती हैं कि दोनों को अलग होना पड़ जाता है। नेहा की शादी उसके घर वाले शेखर से कर देते हैं और उधर रॉनी सेना में कमांडो बन जाता है। कुछ सालों बाद अचानक एक दिन नेहा रॉनी से अपनी किडनैप हुई बेटी को छुड़ाने में मदद मांगती है तो रॉनी आगे आता है। रॉनी को नेहा के देवर सनी (प्रतीक बब्बर) पर शक होता है लेकिन जब उसे पता चलता है कि नेहा की तो कोई बेटी ही नहीं है तो सारा मामला उलझ जाता है। अब इसे रॉनी कैसे सुलझाता है यही फिल्म में दिखाया गया है।
अभिनय के मामले में कहा जा सकता है कि टाइगर फिल्म दर फिल्म अपने में काफी सुधार कर रहे हैं। खासकर इस फिल्म में उनके एक्शन तो लंबे समय तक याद रखे जाएंगे। निर्माताओं ने खुश होकर बागी-3 बनाने की घोषणा भी कर दी है। दिशा पाटनी का काम भी ठीकठाक रहा। टाइगर और दिशा रियल लाइफ में भी कपल हैं इसलिए पर्दे पर दोनों के बीच की कैमेस्ट्री बहुत अच्छी रही। मनोज वाजपेयी, प्रतीक बब्बर, दीपक डोबरियाल और रणदीप हुड्डा भी अपने अपने रोल में प्रभावी रहे। फिल्म में जैकलीन फर्नांडीज का आइटम सॉन्ग ‘एक दो तीन’ भी है जोकि काफी पहले से चर्चा में है। अन्य गाने ठीकठाक हैं लेकिन कहानी में जबरन ठूंसे गये लगते हैं। निर्देशक अहमद खान की विफलता इंटरवेल के बाद साफ नजर आती है जब फिल्म की कहानी इधर से उधर भटक रही होती है।