एक द्रोपदी, बहुत दुशासन! बाबा रे बाबा

0
225

शैलेश सिंह
बाबाओं की बदमाश कंपनी! बाबा रे बाबा! अगर यह कहें कि भारत भूमि ऋषि मुनिं की वजह से ही टिकी है, तब भी गलत नहीं, मगर यह कहें कि भारत भूमि की बदनामी करने वाले, महिला शक्ति का अपमान करने वाले बदमाश बाबाओं की अब लंबी फेहरिस्त हो गई है, तब भी गलत नहीं होगा, धन कुबेर बाबा! सत्ता भोगी बाबा! विलासता से परिपूर्ण बाबा! अनगिनत दुशासनों की मंडली बन गई बाबा रे बाबा! फिलहाल हम आपको चंद्रास्वामी, नित्यानंद, भीमानंद, रामपाल, गुरमीत उर्फ राम रहीम और आसाराम जैसे उन बदमाश बाबाओं के बारे में बता रहे हैं जिनके ढोग पर कानून के जबरदस्त हंटर चले हैं, बहरहाल सिर्फ न्यायपालिका बची है अन्यथा इस देश में अब कुछ नहीं बचा है, यह हम नहीं कह रहे, यह अदालती प्रमाण भी हैं और देश व दुनिया की चर्चित एजेंसी बीबीसी लंदन की भी यही रिपोर्ट है। इतिहास गवाह है कि महाभारत में एक दुशासन था मगर आज चीर हरण के लिए अनगिनत दुशासन शहर-शहर, गली-गली में हैं जो रसूख के दम पर निजी और हुक्मरानों की अनंत इच्छा साबित हो रहे हैं।

नाबालिग से बलात्कार के मामले में आसाराम को जोधपुर की अदालत ने दोषी ठहराया है। आसाराम बापू पर नाबालिग लड़की से रेप का आरोप था. यह मामला 2013 का है. उन पर कई और भी मामले दर्ज हैं। आरोप था कि आसाराम जमीन हथियाने, बच्चों की हत्या समेत कई अन्य मामलों में भी लिप्त रहे, पुलिस इन मामलों की जांच में जुटी है। आसाराम पर आशीर्वाद देने के बहाने लड़कियों से छेड़छाड़ और यौन शोषण के आरोप थे, उनके बेटे नारायण साईं पर भी ऐसे ही आरोप लगे थे। लेकिन आसाराम अकेले नहीं हैं, उनसे पहले गुरमीत सिंह के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ था, ऐसे बाबा और भी हैं, जो विवादों में रहे।

चंद्रास्वामी
चंद्रास्वामी की शख्सियत कैसी थी, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि एक ओर तो उन्हें भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव का सबसे नजदीकी सलाहकार माना जाता रहा तो दूसरी तरफ उन पर राजीव गांधी की हत्या के षड्यंत्र में शामिल होने का आरोप भी लगा। इन आरोपों के बीच कई देशों के शासनाध्यक्षों से मधुर संबंध, हथियारों की दलाली और हवाला का कारोबार, विदेशी मुद्रा अधिनियम का उल्लंघन जैसे कई संगीन आरोपों से भी चंद्रास्वामी सुर्खियों में रहे।

रामपाल
बाबा रामपाल या संत रामपाल आध्यात्म की दुनिया में कदम रखने से पहले हरियाणा की सिंचाई विभाग में इंजीनियर थे, 18 साल तक नौकरी करने के बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया और फिर सत्संग करने लगे. इन्होंने सतलोक आश्रम बसाया। आरोप है कि उनके आश्रम के अस्पताल में गर्भपात सेंटर चलता था, उनके आश्रम से हथियार और कई आपत्तिजनक दवाएं जब्त की गई थीं। उन पर सरकारी कार्य में बाधा डालने और आश्रम में जबरन लोगों को बंधक बनाने का केस दर्ज है, संत रामपाल देशद्रोह के एक मामले में फिलहाल हिसार जेल में बंद हैं।

विवादास्पद नित्यानंद स्वामी
साल 2010 में स्वामी नित्यानंद के खिलाफ धोखाधड़ी और अश्लीलता के मामले दर्ज हुए थे, उनकी कथित सेक्स सीडी सामने आई, उन्हें अभिनेत्री के साथ शारीरिक संबंध बनाते हुए दिखाया गया है। इसके बाद फॉरेंसिक लैब में हुई जांच में सीडी को सही बताया गया, लेकिन नित्यानंद के आश्रम ने उस सीडी की अमरीकी लैब की रिपोर्ट पेश की, इसमें सीडी से छेड़छाड़ की बात सामने आई। इसके बाद नित्यानंद को गिरफ्तार कर लिया गया, हालाकि कुछ दिन बाद उन्हें बेल मिल गई थी, इसके अलावा बेंगलुरू में नित्यानंद के आश्रम में छापेमारी के दौरान कंडोम और गांजा भी बरामद हुआ था।

स्वामी भीमानंद
दिल्ली के एक बाबा खुद को इच्छाधारी संत बताते थे, इच्छादारी संत के नाम से मशहूर स्वामी भीमानंद नागिन डांस के लिए चर्चा में रहते थे, 1997 में उन्हें लाजपत नगर इलाके से पुलिस ने देह व्यापार में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया। उन पर आरोप था कि वो प्रवचन के बहाने लड़कियों को फंसाकर सेक्स रैकेट का कारोबार करते हैं, खुद को संत कहने वाले भीमानंद का वास्तविक नाम शिवमूरत द्विवेदी है और ये बाबा बनने से पहले एक फाइव स्टार होटल में गार्ड की नौकरी करते थे।