इन सेटिंग्स से सेफ रहेगा आपके फेसबुक अकाउंट का डाटा

0
108

फेसबुक डाटा लीक के बारे में तो आपने सुना ही होगा। दुनिया के सबसे बड़े सोशल नेटवर्किंग प्लेटफार्म का डाटा लीक होना कोई आम बात नहीं है। हाल ही में फेसबुक के 5 करोड़ यूजर्स का डाटा चोरी होने का मामला सामने आया था। जैसे जैसे सोशल मीडिया का इस्तमाल बढ़ता जा रहा है धोखाधड़ी और ऑनलाइन फ्रॉड के मामले भी बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में आज हम आपको कुछ ऐसी सेटिंग्स के बारे में बताने वाले हैं जिससे आप अपने फेसबुक को इस्तेमाल करने के लिए सुरक्षित बना पाएंगे।

जी हां, फेसबुक पर कुछ ऐसी सेटिंग्स हैं जिनका इस्तमाल कर आप काफी हद तक अपने फेसबुक अकाउंट को सुरक्षित रख पाएंगे।
तो आइये जानते हैं इन सेटिंग्स के बारें में..
अपने अकाउंट को सिक्यॉर करें:
 अपने फेसबुक अकाउंट के लिए हमेशा लंबा पासवर्ड चुनें और पासवर्ड स्माल लेटर, कैपिटल लेटर और न्यूमेरिक में होना चाहिए। खैर ये तो कॉमन बात है जो आप में से अधिकतर लोगों को पता होगी। एक और सेटिंग है जिससे आप अपने अकाउंट को सिक्यॉर बना पाएंगे।
Security के अंदर जाकर Account Settings में जाएं। यहां पर Login Approvals का ऑप्शन होगा। इसे ऑन करने पर जब भी आप किसी नई डिवाइस से लॉग-इन करेंगे, आपको मोबाइल नंबर पर भेजा गया कोड डालना होगा। इसके बिना नई डिवाइस पर आप इसे यूज़ नहीं कर पाएंगे। इस तरह से कोई और भी अन्य डिवाइस से आपका फेसबुक लॉग-इन नहीं कर पाएगा।
सेटिंग में जाकर अपने अकाउंट से जुड़े एप्स को रिमूव करें:
अगर आप अपने पर्सनल डाटा को सुरक्षित रखना चाहते हैं तो बस इस तरीके को अपनाएं।
स्टेप 1: फेसबुक खोलें -> अकाउंट सेटिंग में जाएं -> एप्स (Apps) को चुनें
एप्स में जाते ही आपको यहां उन एप्स की लिस्ट दिखाई देगी जो आपके अकाउंट से जुड़ी है और आपके फेसबुक अकाउंट की जानकारी को एक्सेस करती है। इनमें से आप उन सभी एप्स को रिमूव कर दें जिनका आप इस्तमाल नहीं करते या जिन एप्स पर आपको भरोसा नहीं है।
फेसबुक मैसेंजर को परमिशन न दें:
आपने देखा होगा कि जैसे ही आप प्ले स्टोर से फेसबुक मैसेंजर इनस्टॉल करते हैं और उसे ओपन करते हैं तो एप आपसे मैसेज को पढ़ने की परमिशन मांगता है। उस समय उसको बंद करना आपके लिए बेहद जरूरी है। ये एप में ही फ़ोन के मैसेज प्राप्त करने और भेजने की सुविधा के लिए परमिशन मांगेगा लेकिन आपको ऐसा नहीं करना है और न ही आपको इसमें अपना नंबर जोड़ना है। लेकिन अगर आप पहले ही मैसेंजर एप को परमिशनस दें चुके हैं तो चिंता की कोई बात नहीं बस मैसेंजर को अन-इनस्टॉल कर दुबारा से इनस्टॉल कर लें।